अपनेक स्वागत अछि।

Friday, April 30, 2010

नोकिया के ओवी म्यूजिक अनलिमिटेड लांच

नोकिया काल्हि बहुप्रतीक्षित ओवी म्यूजिक अनलिमिटेड डाउनलोड सेवा लांच कएलक। एहि सं,उपभोक्ता के लेल स्थानीय म्यूजिक डाउनलोड करब संभव भ जाएत। कंपनी के सेवा के तहत,40 लाख म्यूजिक उपलब्ध छैक जाहि मे रॉक, रैप, पॉप, हिपहोप, बॉलीवुड,सूफी, इंडीपॉप, भारतीय शास्त्रीय संगीत, भक्ति संगीत, ग़ज़ल, मलयालम, तमिल, गुजराती, बंगाली, पंजाबी आ भोजपुरी संगीत शामिल अछि। कंपनी के कहब छैक कि जे नोकिया ओवी म्यूजिक अनलिमिटेड उपकरण कीनत,से एहि संगीत कें एक बरख तक निःशुल्क डाउनलोड क सकत आ एकरा आजीवन अपना पास राखि सकत। कंपनी काल्हिए निःशुल्क उपयोग हेतु नोकिया एक्स टू उपकरण लांच करबाक घोषणा सेहो कएलक।

टी-20 विश्वकप स्टार क्रिकेट पर रात्रि साढे दस बजे

तेसर ट्वेंटी-ट्वेंटी विश्वकप आई सं वेस्टइंडीज मे शुरू भ रहल अछि। टूर्नामेंट 16 मई तक चलत। कार्यक्रम पर एक नज़रिः
ग्रुप-ए टीमः
1.आस्ट्रेलिया
2.बांगलादेश
3.पाकिस्तान

ग्रुप-बी टीम
1.श्रीलंका
2.न्यूजीलैंड
3.जिम्बाब्वे

ग्रुप-सी टीम
1.दक्षिण अफ्रीका
2.भारत
3.अफगानिस्तान

ग्रुप-डी टीम
1.वेस्टइंडीज
2.इंगलैंड
3.आयरलैंड

कार्यक्रमक प्रसारण स्टार क्रिकेट चैनल पर राति मे अलग-अलग समय पर हएत। नोट करूः
30 अप्रैलःभारत-न्यूजीलैंडःरात्रि 10.30 बजे
30 अप्रैलःवेस्टइंडीज-आयरलैंडःरात्रि 2.30 बजे
01 मईःभारत-अफगानिस्तानःसंध्या 7 बजे
01 मईः पाकिस्तान-बांगलादेशःरात्रि 11 बजे
02 मईः दक्षिण अफ्रीका-भारतःसंध्या 7 बजे
03 मईः श्रीलंका-जिम्बाब्वेःसंध्या 7 बजे
03 मईः वेस्टइंडीज-इंग्लैंडःरात्रि 11 बजे
04 मईः न्यूजीलैंड-जिम्बाब्वेःसंध्या 7 बजे
04 मईः इंग्लैंड-आयरलैंडःरात्रि 11 बजे
05 मईः बांगलादेश-आस्ट्रेलियाःसंध्या 7 बजे
05 मईः दक्षिण अफ्रीका-अफगानिस्तानःरात्रि 11 बजे

6 मई सं सुपर-8 दौर के मैच शुरू हएत। ओहि समय पुनः अपडेट देब। भारत के टीम मे एहि बेर धोनी,गंभीर,मुरली विजय,सुरेश रैना,युवराज सिंह,यूसुफ पठान,हरभजन सिंह,रवींद्र जडेजा,जहीर खान,प्रवीण कुमार,आशीष नेहरा,विनय कुमार,दिनेश कार्तिक,रोहित शर्मापीयूष चावला हिस्सा ल रहल छथि। सचिन,सहवाग,यूनुस खान,रोबिन उथप्पा,शोएब मलिक आ पोंटिंग के जलवा एहि टूर्नामेंट मे नहि देख सकब। मैच सेंटलुसिया,गुयाना आ बारबाडोस मे हएत। पहिल विश्वकप 2007 मे भेल छल जे भारत जीतने छल। दोसर टूर्नामेंट 2009 मे भेल जे पाक जीतल।

आइसक्रीम ऑन ह्वील्स

पटना मे,सुधा आइसक्रीम आब राह चलैत भेटत। ई पटना मे एहि तरहक पहिल प्रयास छैक। काल्हि एहि सिलसिला मे मौर्यालोक मे,सुधा आइसक्रीम ऑन ह्वील्स के शुभारंभ कएल गेल। एहि गाड़ी पर दू दर्जन स्वादिष्ट कॉकटेल आइसक्रीम उपलब्ध रहत। कॉकटेल तैयार करए लेल आइसक्रीम मे दर्जनों तरहक फल कें मिश्रण कएल गेल छैक। आइटम सभ भोरे दस बजे सं राति 11 बजे धरि भेटत। एखन ई बिक्री पटना मे दस स्थान पर आ मार्केट कॉम्प्लेक्स मे हएत।

"नव हुंकार" के लोकार्पण

ऑल इंडिया स्टूडेंट्स फेडेरेशन के त्रैमासिक पत्रिका नव हुंकार केर काल्हि पटना मे,माध्यमिक शिक्षक संघ भवन मे लोकार्पण कएल गेल। लोकार्पण कएलनि हिंदी साहित्य के ख्यात आलोचक खगेन्द्र ठाकुर जी। नव हुंकार के संपादक विश्वजीत जी एहि अवसर पर कहलनि जे एहि अंक मे भरपूर प्रयास कएल गेल छैक जे युवा रचनात्मकता केर संवेदनशीलता आ आक्रोश परिलक्षित हुअए।

कलर्स पर चक धूम धूम

र्स चैनल पर आइ सं चक धूम धूम कार्यक्रम शुरु भ रहल अछि। बच्चा सभहक एहि डांस रिएलिटी शो के विजेता के बेस्ट जूनियर डांसिंग स्टार घोषित कएल जेतैक। कार्यक्रम मे,5 सं 14 बरख धरिक बच्चा सभ शामिल भ रहल अछि। जज बनल छथि सरोज खान,अहमद खान (नृत्य निर्देशक) आ विंदू दारा सिंह। मुंबई मे जबर्दस्त ऑडिशन आ स्क्रीनिंग के बाद,कार्यक्रमक लेल 40 बच्चा के चुनल गेल छैक। डांस गुरु बोस्को आ सीजर एहि कार्यक्रमक लेल बच्चा सभ कें तैयारी करओताह। एंकरिंग करतीह सलोनी डैनी। बाद मे,बिग बॉस सं चर्चित भेल प्रवेश राणा सेहो होस्ट करताह। कार्यक्रमक प्रसारण प्रत्येक शुक्र आ शनि कए राति नौ बजे सं हएत।

Thursday, April 29, 2010

ज्योतिष पर प्रतिबंध नहिः केंद्र

केंद्र सरकार स्वीकार कएने अछि जे ज्योतिष एक प्राचीन विज्ञान अछि आ एहि पर प्रतिबंध नहीं लगाओल जा सकैत अछि। केंद्र सरकार ई बात काल्हि बम्बई हाइकोर्ट मे, एक जनहित याचिका के जवाब में कोर्ट में दायर हलफनामा मे कहलक। हलफनामा मे कहल गेलैक जे ज्योतिष समय कें कसौटी पर कसल जा चुकल विज्ञान छैक आ एहि पर प्रतिबंध लगाएब संभव नहि छैक। बंबई हाईकोर्ट एहि संबंध मे एक जनहित याचिका पर सुनवाई क रहल अछि। हलफनामा में कहल गेलैक जे सुप्रीम कोर्ट सेहो कहने अछि जे ज्योतिषशास्त्र मे पाठ्यक्रमक प्रारंभ सं संविधान मे निहित धर्मनिरपेक्षता के सिद्धांत पर असरि नहि पड़तैक। जनहित याचिका मे ज्योतिष,वास्तुशास्त्र आदि के अभ्यास पर प्रतिबंध लगएबाक मांग कएल गेल छैक। भारत सरकार के उप-औषधि नियंत्रक डॉ. रामकृष्ण कहलनि कि ज्योतिष विज्ञान के इतिहास ४ हजार वर्ष पुरान छैक आ एकरा पूरा तरह सं उनटा बूझब अनुचित हेतैक। याचिका में भविष्यवक्ता सभहक विज्ञापन पर ड्रग एंड मैजिक रेमेडीज एक्ट के तहत कार्रवाई करबाक मांग कएल गेल छल। एकर जवाब में कहल गेल जे एहि एक्ट में ज्योतिषशास्त्र आर एहि सं संबद्ध विधा नहि अबैत छैक। ई एक्ट केवल ड्रग आर रेमेडीज के भ्रमित कएनिहार विज्ञापन के लेल अछि। ज्ञातव्य जे भारतीय संविधानो मे, एस्ट्रोलॉजी कें शेड्यूल ट्राइव एजुकेशन में राखल गेल छैक अर्थात् एहि लुप्त भ रहल विद्या कें संरक्षण देल जएतैक। तें,जाहि विद्या कें संरक्षण देल जा रहल छैक,तकरा बैन केना कएल जा सकैत अछि। वस्तुतः,ज्योतिष के व्यावसायीकरण आ एहि लाईन में कम ज्ञानी मुदा धंधेबाजलोकनिक प्रवेश कें कारण एहि विद्या के प्रति लोक सभहक अविश्वास निरंतर बढल छैक। ई गप्प आओर छैक जे तइयो ,समस्याग्रस्त भेला पर लोक ज्योतिषी सभहक शरण लैते छैक। पाठक लोकनि जनिते हेताह जे मशहूर ब्लॉगर संगीतापुरी जी गत्यात्मक ज्योतिष विषयक चर्चित ब्लॉग चला रहल छथि।

वीर कुंअर सिंह आरा-छपरा महासेतु

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आरा आ छपरा के बीच गंगा नदी पर प्रस्तावित महासेतु के नामकरण वीर कुंअर सिंह के नाम पर करबाक घोषणा कएलनि अछि । नीतीश जी ई घोषणा काल्हि पटना के श्रीकृष्ण मेमोरियल हाल में वीर कुंअर सिंह मेमोरियल सेवा एवं शोध संस्थान दिस सं आयोजित "वीर कुंअर सिंह शहादत स्मृति समारोह" मे कएलन्हि। हुनकर कहब रहनि कि कुंअर सिंह ब्रिटिश शासन के खिलाफ बिहारे टा के नहि अपितु पूरा देश कें जगओने छलाह । हुनका बिनु बिहार के आ बिहार बिनु भारत कें इतिहास अपूर्ण रहत । ओ इहो कहलनि जे स्वतंत्रता संग्राम में वीर कुंअर सिंह कें आदर्श सं युवा पी़ढ़ी के प्रेरणा लेबाक आवश्यकता छैक। स्वतंत्रता संग्राम मे बाबू कुंअर सिंह के योगदान उल्लेखनीय छल। "अस्सी बरसों की हड्डी में जागा जोश पुराना था,सब कहते है कुंअर सिंह भी बड़ा वीर मरदाना था'' पढि मोन आइयो गर्व सं भरि जाइत छैक।

भोजपुरी लेखिका साहित्य कला परिषद् मे

भोजपुरी लेखिका आ संस्कृतिकर्मी श्रीमती वंदना श्रीवास्तव कें, दिल्ली कें साहित्य कला परिषद् के सदस्य बनाओल गेल छन्हि। दिल्ली के मुख्यमंत्री आ साहित्य कला परिषद् के अध्यक्ष श्रीमती शीला दीक्षित हुनका परिषद के सदस्य के रुप मे नामित कएलन्हि। श्रीमती वन्दना भोजपुरी के विख्यात भित्ति चित्रकार छथि। कला के क्षेत्र में ओ अपन तरहक भोजपुरी शैली विकसित कएने छथि । देश कें भोजपुरी चित्रकला शैली मे हुनक नाम अग्रगण्य छन्हि। श्रीमती वंदना विज्ञान आ कला दुनू विषय में शिक्षित छथि।

Tuesday, April 27, 2010

नोकिया कें फ्री ई-मेल सेवा

मोबाइल कंपनी नोकिया काल्हि नोकिया सिंबियान उपकरण कें उपयोगकर्ता ग्राहकलोकनिक लेल मैसेज के साथ निशुल्क ई-मेल सेवा शुरू कएलक। कंपनी केर ई सेवा देश भरि कें नोकिया ग्राहक लेल उपलब्ध हएत। एहि लेल ग्राहक कें खाली बेसिक डाटा मात्र डाउनलोड करबाक शुल्क देमए पड़तनि। नोकिया, मैसेजिंग सेवा के तहत निशुल्क इंस्टेंट मैसेजिंग सेवा वला मोबाइल फोन सेहो आनत। कंपनी अत्याधुनिक सुविधाओं सं लैस आ सिंबियन-3 आधारित तीन टा स्मार्ट फोन आनबाक घोषणा कएलक। सुविधाजनक ई-मेल आर चैटिंग वला ई नोकिया किफायती फोन के मॉडल नम्बर सी-३, सी-६ आ ई-५ अछि। सी-३ एहि वर्ष केर दोसर तिमाही में पेश कएल जाएत आ एकर कीमत ९० यूरो (टैक्स छोड़ि कए) रहत। नोकिया सी-६ सेहो ओही समय आएत आ ओकर दाम २२० यूरो रहत। नोकिया ई-६ तेसर तिमाही में लांच कएल जाएत। एकर कीमत १८० यूरो रहत।

Monday, April 26, 2010

"इंडियन आइडल" शुरू

सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन पर आइ सं इंडियन आईडल कार्यक्रम पांचम बेर शुरू भ रहल अछि। कार्यक्रम के प्रसारण सोम सं ब्रैस्पति तक राति 9 बजे सं हएत। जे गोटे गायन मे अपन करियर बनाबए चाहैत छथि हुनका लेल ई कार्यक्रम लाइफटाइम अवसर मानल जाइत छैक। प्रोग्राम के कैच लाइन छैकः करोड़ों मे एक आवाज बनेगी देश की आवाज़। पछिला बेर ई कार्यक्रम टीवी के सभसं लोकप्रिय कार्यक्रम बताओल गेल छल। कार्यक्रम मे उएह भाग ल सकैत छथि जनिकर आयु एहि बरख 1 फरवरी कए,15 सं 30 बरखक बीच हुअए। 18 बरख सं कम उमर बला कें अपना संग गार्जियन के आनए पड़तनि। ऑडिशन खाली हिन्दी मे हएत। एकर फारम ऑडिशने बला जगह पर भेटत आ तखनहि भरए पड़त। सभ प्रतिभागी के लेल जन्म प्रमाण-पत्र आ पहचान-पत्र आनब ज़रूरी छैक। अनू मलिक फेर एहि कार्यक्रम के जज बनल छथि। एहि बात कें ल कए विवाद रहल छैक जे कार्यक्रम तं छैक गायन कें मुदा एहि मे लुक आ आनो फैक्टर निर्णायक भ रहल छैक। क्षेत्रवाद आ वोटिंग प्रक्रिया पर सेहो कतेको तरहक आक्षेप कएल गेल छैक।
ऑनलाईन आवेदन करए लेल क्लिक करू।

Thursday, April 22, 2010

एयरटेल पर 'लाइव आरती'

एयरटेल काल्हि सं "लाइव आरती" सेवा शुरू कएलक। एहि सेवा कें उपयोग कए मोबाइल फोन पर तिरुपति बालाजी, सिद्धि विनायक, शिरडी साई बाबा आर बंगला साहिब सन प्रतिष्ठित मंदिर कें लाइव आरती सुनि सकब। एकर प्रसारण सोझे पूजा स्थल सं हएत। एक समय के सदस्यताक वास्ते पांच रुपय्या लागत आर रोजाना सब्सक्रिप्शन के लेल दो रुपय्या रोज़। ई सेवा सम्पूर्ण भारत मे एयरटेल के ग्राहक कें भेटतनि।
जल्दीए,एहि सेवा मे गोल्डन टेंपल, वैष्णो देवी, काशी विश्वनाथ, हर की पौड़ी, पटना साहिब गुरुद्वारा आ पुरी कें जगन्नाथ मंदिर सं लाइव आरती सेहो उपलब्ध हएत।

महावीर मंदिर में विशेष प्रसाद 'क्षीरम' उपलब्ध। "नैवेद्यम" के पंजीकरण करएबाक तैयारी।

पछिला माह खबरि आयल छल जे पटना कें प्रतिष्ठित महावीर कें नैवेद्यम लेबए लेल पटना जाएब जरूरी नहि रहि जाएत किएक तं मंदिर प्रशासन आब एकर ऑनलाइन खरीदारी के व्यवस्था करए जा रहल अछि। एहि क्रम मे,एकटा आओर शुभ सूचना अछि जे आब एहि मंदिर मे भक्तगण कें विशिष्ट प्रसाद "क्षीरम" सेहो भेटतन्हि। 20 अप्रील कए, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार क्षीरम प्रसाद वितरण केर शुभारंभ कएलनि । एहि अवसर पर, महावीर मंदिर के संचालक किशोर कुणाल जी कहलनि जे क्षीरम प्रसाद कें व्रत रखनिहारलोकनि उपवास के दिन सेहो उपयोग क सकताह किएक तं एहि मे अनाजक मिश्रण नहि छैक। ओ इहो जानकारी देलनि जे मशहूर नेवैद्यम के पंजीकरण करएबाक प्रयास कएल जा रहल छैक ।
ओ कहलनि कि राज्य के धार्मिक स्थल सभहक संचालन बेहतर करबाक लेल प्रदेश सरकार धार्मिक न्यास परिषद कें गठन कएने अछि जकर अध्यक्ष किशोर कुणाल कें बनाओल गेल छन्हि। नीतीश जी बजलाह जे मंदिर के बेहतर प्रबंधन सं श्रद्धालुलोकनिक शोषण रुकल अछि ।

इहो घोषणा कएल गेल जे महावीर मंदिर न्यास कें होमय वला आय सं गरीब सभहक लेल महावीर कैंसर संस्थान, महावीर वात्सल्य हॉस्पीटल आ महावीर आरोग्य संस्थान कें संचालन भ रहल अछि।
महावीर मंदिर के साइट देखए लेल क्लिक करू।

Wednesday, April 21, 2010

कोहबर-सोहराय चित्रकला

बिहार आ झारखंड मे, मधुबनी पेंटिंग जकां कहियो ‘कोहबर’ आर ‘सोहराई’ भित्ति चित्रकला के प्रति सेहो लोक सभहक विशेष झुकाव रहैत छल मुदा आब ई कला विलुप्त हेबाक कगार पर अछि।
एकरा झारखंड के जनजातीय कला कहल जाइत छैक। एहि कला मे ‘वंश वृद्घि’ आर ‘फसल वृद्घि’ के चित्रण कएल जाइत छैक। बिहार आर झारखण्ड के संथाल, मुंडा, गोंड, कोरमा, असुर आ बैगा जनजातिक लोकसभ आइयो एहि भित्तिचित्रक बखूबी इस्तेमाल करैत छथि।
परम्परा के अनुसार,एहि कला कें घरक देबार पर चित्रित कएल जाइत छैक। एहि कला पर शोध क रहल विनोद रंजन के अनुसार, एहि मे मुख्य रूप सं देबार पर जानवर सभहक चित्र अंकित कएल जाइत छैक। एहि कला के उत्थान लेल कार्यरत हजारीबाग के बुलु इमाम के अनुसार,एहि प्राचीन कला केर स्थिति वर्तमान समय में एकदम दयनीय भ गेल छैक। इमाम जी कें कहब छन्हि जे एहि कला कें हड़प्पा संस्कृति के समकालीन मानल गेल छैक। इमाम जी के अनुसार, एहि कला कें ककरहु घर पर विवाह के बाद वंशवृद्घि लेल तथा दीपावली के बाद फसल वृद्घि लेल प्रयोग कएल जाइत छैक। मान्यता छैक जे जाहि घरक देबार पर कोहबर आर सोहराई कें भित्तिचित्र रहैत छैक ओकर घर में वंश आर फसल वृद्घि होइते रहैत छैक।
फसल वृद्घि लेल लोक प्राकृतिक वस्तु सभहक चित्र बनबैत छथि आ वंशवृद्घि लेल दिल, राजा-रानी आदि केर चित्र । एहि कला केर सभसं पैघ विशेषता छैक जे कलाकार पूरा देबार पर एकहि बेर में चित्र बनबैत छैक।
हजारीबाग के मांडु केर 22 वर्षीया पुतली एहि कला में माहिर छथि। हुनकर बनाओल "कोहबर" आर "सोहराय" पेंटिंग आस्ट्रेलिया केर आर्ट गैलरी ऑफ न्यू साउथवेल्स,सिडनी में वर्ष 2000 में लगाओल गेल छल जे ओतए लगएवला ई भारत केर पहिल पेंटिंग छल। पछिला वर्ष मिलान, लंदन, आर जर्मनी मे सेहो हुनक पेंटिंग कें बड्ड प्रशंसा भेल छल।
सोहराय कला पर एक गोट उपयोगी आलेख लेल क्लिक करू।

मैथिली पोथी "अनुचिंतन" केर लोकार्पण

सुप्रसिद्ध भाषाविद् गोविन्द झा मैथिली साहित्यक अत्यन्त सम्मानित नाम छथि। कतेको भाषा पर समान अधिकार रखैत छथि आ हुनक विचार के साहित्य जगत मे गंभीरता सं लेल जाइत छन्हि। मैथिलीक सभसं वृहत् शब्दकोश सेहो हुनके तैयार कएल छन्हि। हुनके 89म जन्म दिन पर बिहार मे बिहार हिन्दी साहित्य सम्मेलन काल्हि एक गोट समारोह आयोजित कएलक। एहि समारोह मे, हुनक मैथिली कृति आत्मालाप पर आधारित योगेंद्र प्रसाद मिश्रक हिन्दी उपन्यास विदेह जनपद केर लोकार्पण कएल गेल। मिश्र जी केर दू गोट आओरो पोथी-अनुचिंतन(मैथिली) आ नख दर्पण(हिंदी) के लोकार्पण सेहो भेल। सम्मेलन के उद्घाटन राष्ट्रपति पुरस्कार प्राप्त आचार्य आद्याचरण झा जी कएलनि। मुख्य अतिथि छलाह भाषाविद् आचार्य श्रीरंजन सूरिदेव जी। डाक्टर जगदीश पांडेय आ प्रोफेसर अमरनाथ सिन्हा जी सेहो उपस्थित छलाह।
(चित्र हिंदुस्तान,पटना,21.4.2010 सं साभार)

शोध पत्रिका "अन्वेषिका" के वास्ते आलेख आमंत्रित

पटना के बीएन कालेज के वार्षिक शोध पत्रिका अन्वेषिका के वास्ते आलेख आमंत्रित अछि। प्राचार्य डा. राज किशोर प्रसाद कहलनि अछि जे कालेज के एहि प्रतिष्ठित हिंदी शोध-पत्रिका मे, शिक्षक, विद्वान आ छात्रलोकनि अपन योगदान द सकैत छथि। पत्रिका के वर्तमान अंक केर विमोचन एही वर्ष 6 अप्रैल कए भेल छल जाहिमें 32 शोघ पत्र प्रकाशित कएल गेल छल। महाविद्यालय प्रबंधन अगिला अंक के आओर उपयोगी आ संग्रहणीय बनएबाक प्रयास क रहल अछि।

Tuesday, April 20, 2010

यात्री पुरस्कार आ कांचीनाथ झा "किरण" पुरस्कार वितरित

हालहि मे,मैथिलीक साहित्यकारलोकनि कें प्रतिष्ठित यात्री पुरस्कारकांचीनाथ झा किरण पुरस्कार सं सम्मानित कएल गेलनि। समारोह मधुबनी मे आयोजित भेल छल।
2010 केर यात्री पुरस्कार पछिला तीस बरख सं सक्रिय कवि-कथाकार-निबन्धकार-आलोचक नारायण जी केँ देल गेलनि । हम घर घुरि रहल छी हुनक चर्चित पोथी छन्हि।
2009 के पुरस्कार भेटलनि अलीगढ मुसलिम विश्वविद्यालय मे हिंदी के एसिस्टेंट प्रोफेसर डाक्टर पंकज पराशर कें। कवि-समालोचक पंकज जी सहरसा के छथि आ हुनकर दू गोट पोथी बहरायल छन्हि-समय कें अकानैतविलम्बित कईक युग मे निबद्ध
2008 केर लेल इएह पुरस्कार कवि हरेकृष्ण झा कें भेटलनि। कोईलखवासी श्री हरेकृष्ण जी कवि-आलोचक-अनुवादक छथि। एना कतेक दिन हुनकर चर्चित काव्य-संग्रह छन्हि।
कांचीनाथ झा किरण पुरस्कार मधुकांत झा केँ हुनकर उपन्यास स्वेदजीवी के लेल देल गेलनि। फुलपरास थानांतर्गत विष्णुपुर निवासी मधुकांत जी चर्चित मैथिली पत्रिका समय-साल के सम्पादक छथि। ओ बहुविध लेखन कएने छथि। हिंदी मे दूधिया मेघ(कविता),चंद खुशियां दबोचे गले(गजल) आ मैथिली मे वेदना के स्वर-तरंग(गीत),लोक की कहत(कथा),मिझाइत अंत प्रकाश(कविता) आ लटलीला(प्रेम-संवाद संग्रह) प्रकाशित छन्हि।

पुरस्कार विजेता लोकनि कें अंगवस्त्रम, प्रशस्ति पत्र, 1501 नकद राशि और मार्ग व्यय प्रदान कयल गेलनि। खास बात ई जे श्रोताक संख्या लगभग बीस-पच्चीस हजार छल, जे आश्चर्यजनक उपस्थिति छल। एहि त्रिदिवसीय कार्यक्रमक आयोजक छल रहिका, मधुबनी केर मैथिल समाज। एहि कार्यक्रम मे पंडौल केर विधायक विनोद नारायण झा आ मधुबनीक एसपी उषा झा केर उपस्थिति अंत धरि छल। कार्यक्रम मे मिथिलाक आर्थिक विकास विषय पर घनघोर सेमिनारक भेल। संग-संग नाटक, गीत-नाद, सांस्कृतिक अनेक कार्यक्रम सेहो छल।
कार्यक्रम वृहद पैमाना पर छल, जाहि मे रहिका केर आसपासक कम सँ कम आठ-दस गामक सब तरहक सहयोग छल।

नीतीश स्पीक्स डॉट ब्लॉगस्पॉट डॉट कॉम

पछिला किछु समय सं ब्लॉगक लोकप्रियता देखि,आब अपन बात ब्लॉगक माध्यम सं रखबाक चलन बढल छैक। अमिताभ बच्चन जखन ब्लॉग पर आयल छलाह,तं लोक कें ई पतिआएब मोसकिल छलैक जे ओ अपने ब्लॉगिंग क रहल छथि आ कि केओ आओर हुनकर अनुमति सं ब्लॉग चला रहल छैक। मुदा आब ककरो आश्चर्य नहि होइत छैक। वाक्पटु अमरसिंह सेहो आब प्रेस कांफ्रेंस मे कम आ ब्लॉग पर बेसी गपियाइत छथि। एहि क्रम मे ताजा नाम अछि नीतीश कुमार कें। चुनाव लगिचायल देखि ओ संवाद आ लोकप्रियता जनबाक लेल एहन माध्यम चुनलनि अछि जाहि लेल महारैला के आह्वान करबाक जरूरति नहि छैक। हिंदुस्तान,पटना संस्करण केर खबरि देखूः

Monday, April 19, 2010

ब्लॉगिंग मे टॉपर बनबाक नुस्खा

ब्लॉगर सभहक बीच मारामारी चलिते रहैत छैक। कखनो पोस्टक संख्या ल कए तं कखनो कमेंटक संख्या ल कए। परन्तु,लंदन के एक सर्वेक्षण मे कहल गेल छैक जे ऑनलाइन मित्रक संख्या पोस्टक मात्रा सं बढैत छैक,गुणवत्ता सं नहि। जे जतेक पोस्ट करैत छथि,तनिक मित्रक संख्या ओहि अनुपात मे रहैत छैक। ई अध्ययन कएल गेल छैक शेफील्ड यूनिवर्सिटी के सुजान जैमिसन पॉवेल केर टीम द्वारा। ई टीम टॉप 75 ब्लॉगर के लोकप्रियता के विश्लेषण कएलक। शोधकर्तालोकनि प्रत्येक ब्लॉगर के मित्र संख्या,पोस्टक संख्या,लिखल गेल कुल शब्दक संख्या आ पोस्ट सभहक औसत दृष्टिकोण पर गौर कएलाक बाद ब्लॉगर सभ सं पुछलनि जे आन शीर्षस्थ ब्लॉग सभ हुनका कतेक आकर्षक बूझि पड़ैत छन्हि। अनुसंधानकर्तालोकनि एहि निष्कर्ष पर पहुंचलाह जे जतेक संख्या मे पोस्ट कएल गेल,ओही अनुपात मे हुनकर मित्र(समर्थक)लोकनिक संख्या बढैत गेल। एतबे नहि,एही सं हुनकर रेटिंग सेहो बढलनि।
एहि बात सं कोनो फर्क नहि पड़लैक जे ब्लॉगरलोकनिक पोस्ट पर आएल कमेंट सकारात्मक छैक अथवा नकारात्मक। ओम्हर,एक अन्य सर्वेक्षण मे,ई निष्कर्ष निकलल अछि जे फेसबुक आब ओतबे लोकप्रिय भ गेल अछि जतेक कि टेलीविजन अछि। नील्सन केर सर्वेक्षण के निष्कर्ष छैक जे 73 प्रतिशत अमरीकन ऑनलाइन रहला पर,सप्ताह मे कम सं कम एक बेर, सोशल नेटवर्किंग साइट पर ज़रूर जाइत छथि। संगहि,अमरीका के लगभग 47 प्रतिशत लोक प्रतिदिन फेसबुक पर जाइत छथि। ज्ञातव्य जे एहन इंटरनेट प्रयोक्ता,जे टेलीविजन रोज देखैत छथि, केर संख्या सेहो 55 प्रतिशत छथि। अर्थात् फेसबुक आ टेलीविजन प्रयोक्त केर संख्या मे बेसी फर्क नहि रहि गेल छैक।
पछिला किछु समय सं एहि बात ल कए बड्ड चर्चा भ रहल छैक जे हिंदी ब्लॉगिंग केम्हर जा रहल अछि आ अंग्रेजी के मोकाबिला मे ई कतए ठहरैत अछि। गुटबाजी आ गंभीर पोस्टक उपेक्षा स्पष्ट परिलक्षित होइछ। सड़ियल पोस्ट के पठनीयता बढल जा रहल छैक-ठीक ओहिना जेना कवि सम्मेलन सभ मे सड़कछाप शेर पर ठिठिअओनिहारक संख्या बड्ड रहैत छैक। किछु गोटे गूगल द्वारा विज्ञापनक लेल हिंदी ब्लॉगिंग के उपेक्षा सं चिंतित छथि। मुदा हिंदी ब्लॉगिंग के स्तर देखैत गूगल कें दृष्टिकोण अनुचित नहि कहल जा सकैत छैक। सनसनी पेश करबा सं हिंदी ब्लॉगिंग के दूर होमय पड़तैक। कतेको ब्लॉगर जे टाप 20 अथवा 30-40 मे गनल जाइत छथि,अपन कोनो पोस्ट नहि द कए खाली अन्यत्रक लिंक द रहल छथि। किछु लोकक पोस्टक साइज आ शीर्षकक साइज एकहि समान रहैत छन्हि। किछु गोटे मारिते ब्लॉग बनओने छथि मुदा सभ पर एकहि टा पोस्ट रहैत छन्हि। एहि सभ प्रयासक खिलाफत करबाक समय आबि गेल छैक।

Saturday, April 17, 2010

फणीश्वर नाथ रेणु जी कें पुश्तैनी घर तूफान मे ध्वस्त


अमर कथाकार फणीश्वरनाथ रेणु केर रचना पर बनल फिल्म तीसरी कसम कें गवाह २०० साल पुरान बरगदक पेड़ राज्य मे मंगलकए आएल तूफान मे नष्ट भ गेल । ई उएह बरगद केर गाछ छल जतए फिल्म तीसरी कसम के मशहूर गीत "सजनवां बैरी हो गए हमार.." कें शूटिंग भेल छल ।

एहि प्रलयंकारी तूफान सं रेणुजी कें पुश्तैनी मकानो धराशायी भ गेल। एही ठाम रेणुजी कें बाल्यकाल बीतल छलन्हि आ एतहि रहि ओ कतेको कालजयी रचना कएने छलाह। मुदा एहि तूफानक पछाति,आब ओ सभ चीज स्मृति मात्र रहि जाएत। एही मास, 11 अप्रैल कए,रेणुजीक पुण्यतिथि पर गाम मे कार्यक्रम आयोजित भेल छल आ रेणुजी कें प्रतिमा पर पुष्पांजलि सेहो अर्पित कएल गेल छल। ज्ञातव्य जे एहि तूफान मे सए सं बेसी लोक मारल गेल छलाह आ हजारों घर नष्ट भ गेल अछि ।

Thursday, April 15, 2010

बिहार मे पोर्न

किछु समय पूर्व,एक सर्वेक्षण मे कहल गेल छल जे सभसं बेसी सेक्स शब्द केर सर्च भारत सं होइत छैक। दरअसल,इंटरनेट के सम्पर्क में अबिते लोक सभ सं पहिने अश्लील साइट सर्च करैत छैक। पोर्न साइट सभहक एकटा खूबी इहो छैक जे कतेको बेर,चाहब किछु आओर आ खुजि जाएत उएह सब। बहुत बेर तं एहन होइत छैक जे पोर्न लिंक खुजि गेला पर बंदे नहि हएत। ईएह सभ आब बिहार मे शुरू भेल अछि। ओतए इंटरनेट सं एखनो लोक बेसी परिचित नहि छथि। आ जे छथि से देखू जे की क रहल छथिः







(हिंदुस्तान,पटना,14.4.2010)

हिंदी शब्द संसाधन

दिल्ली में 13 अप्रैल कए,गृहराज्य मंत्री अजय माकन "हिन्दी शब्द संसाधन" नामक पुस्तक आर एकर वेब संस्करण के लोकार्पण कएलनि। एहि पोथी कें पढिकए ककरहु लेल कंप्यूटर पर हिन्दी मे काज करब आसान भ जेतैक। जे गोटे हिन्दी टाइपिंग नहि जनैत छथि तनिका लेल फोनेटिक के माध्यम सं हिन्दी मे काज करबाक युक्ति बताओल गेल छैक जाहि सं ओ इंटरनेट पर हिन्दी लिखि सकथि। ई पोथी गृह मंत्रालय कें राजभाषा विभाग अंतर्गत केन्द्रीय हिन्दी प्रशिक्षण संस्थान के तीन सहायक निदेशक-दिनेश कुमार, राकेश वर्मा आर मुकेश संयुक्त रूप सं लिखने छथि। हिंदी माध्यम सं कंप्यूटर आ एकर विभिन्न एप्लीकेशंस के सिखबएबला मारिते पोथी बजार में छैक मुदा एकहु टा एहन पोथी उपलब्ध नहि छैक जे हिंदी मे शब्द-संसाधनक जानकारी देबाक अतिरिक्त टाइपो कएनाई सिखा सकए। ई पोथी इएह बात के ध्यान मे राखिकए आनल गेल अछि। एहि मे,हिंदी भाषा कें तीनो कुंजीपटल-इन्स्क्रिप्ट,टाइपराइटर आ इंग्लिश फोनेटिक के अभ्यास करबाक तरीका बताओल गेल छैक।

यामाहा के वाईबीआर मॉडल उपलब्ध

दुपहिया वाहन बनबए बला नामी जापानी कंपनी यामाहा मोटर्स मंगलकए भारत में अपन नव मोटरसाइकिल वाईबीआर ११० उतारलक। दिल्ली में एहि मोटरसाइकिल के एक्स शोरूम कीमत ४१ हजार रुपय्या छैक। कंपनी के मुख्यकार्यकारी अधिकारी यूकीमेनी त्सुजी कहलनि जे कंपनी कतेको मास सं, भारत में एक एहन मोटरसाइकिल अनबाक योजना बनबैत छल जे दाम के हिसाब सं किफायती हुअए आ बेहतर माइलेज सेहो द सकए।

फोटोग्राफी सीखू कैनन सं

कैनन आब फोटोग्राफी प्रशिक्षण लाइन मे उतरि रहल अछि। कैनन इंडिया प्राइवेट लिमिटेड चालू वित्त वर्ष मे, मार्केंटिंग में ५५ करोड़ रुपय्या केर निवेश करत। कैनन मंगल कए घोषणा कएलक जे भारत मे ३७ शहर मे फोटोग्राफी के प्रशिक्षण देमय लेल ८५ कार्यशाला आयोजित करत। कैनन इंडिया के अध्यक्ष आर मुख्य कार्यकारी अधिकारी केनसाकू कोनिशी दिल्ली मे, डिजीटल कैमरा केर २०टा नव जारी करैत कहलनि जे ई कैमरा सभ आधुनिकतम तकनीक सं लैस आ भारतीय परिस्थिति लेल सर्वोत्तम अछि। ज्ञातव्य जे भारत में डिजीटल कैमरा केर बाजार दू हजार करोड़ रुपय्या के छैक जाहि मे कैनन केर हिस्सेदारी १८ प्रतिशत के छैक।

जूड़शीतल आ मलमास

काल्हि सतुआइन छल आ आइ जूड़शीतल अछि। एहि अवसर पर पितरक लेल लोक सभ सत्तू, जौ, टिकुला आ हाथ-पंखा दान कएल जाइत छैक। घर में बड़ी, भात, दलिपूड़ी, आमक चटनी बनैत छैक। सतुआ आ गुड़ कें प्रसाद कुलदेवता कें चढ़एबाक परम्परा सेहो छैक। कुलदेवताक समक्ष पानि भरल लोटा राखल जाइत छैक आ ओही पानिक थप्पा अगिला दिन अर्थात् जूड़शीतल कए छोट सभ कें अन्हरगरे, सुतले मे ,माथ पर आशीष स्वरूप देल जाइत छैक। पानि में राखल बासी भात आ बड़ी खएबाक परम्परा रहल छैक । भात आ बड़ी घर के दरबज्जा लग आ चूल्हा पर सेहो चढ़ाओल जाइत छैक। चूल्हिया नेवार रहैत छैक अर्थात् चूल्हि पर भोजन नहि बनाओल जाइत छैक। जूड़शीतल मे एहन प्रत्येक स्थान कें साफ रखबा पर विशेष जोर रहैत छैक जाहि ठाम पानि राखल जाइत छैक।

आइए सं मलमास सेहो प्रारंभ भ रहल अछि। मलमास कें अधिकमास अथवा पुरुषोत्तम मास सेहो कहल जाइत छैक। जाहि चंद्रमास में सूर्य कें राशि-संक्रमण अर्थात एक राशि सं दोसर राशि में प्रवेश (संक्रांति) नहि हुअए,ओकरे मलमास कहल जाइत छैक। सूर्यनारायण प्रत्यक्ष देवता छथि। समस्त धर्म-कर्म सूर्यदेव कें साक्षी मानिकए कएल जाइत छैक। विक्रम संवत् 2067 में मेष संक्रांति आर वृष संक्रांति के मध्य के दुनू पक्ष में सूर्य कें कोनो संक्रांति नहि छैक। तें, 15 अप्रैल सं 14 मई, 2010 के मध्यक अवधि मलमास रहत। खासकए बिहार,उत्तरांचल, उत्तरप्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान मे एहि मास मे निष्काम भक्ति के अतिरिक्त आन सभ कार्य वर्जित रहैत छैक। पूर्वी व दक्षिण प्रदेश मे एहि तरहक दोष नहि मानल गेल छैक।
पुराण मे कहल गेल छैक जे हर तेसरे वर्ष पड़एवाला मलमास मनुष्य कें जीवनवृत्ति के चक्र सं मुक्त करैत छैक। तें, एहि मासक महत्ता कनेक बेसि छैक। मलमास मे धार्मिक कर्मकांडक संख्या बढ़ि जाइत छैक। श्रद्घालु मलमास में बेसी समय तीर्थ में बितबैत छथि। भगवान मलमास में भगवान विष्णु अथवा श्रीकृष्ण कें उपासना, जप, व्रत, दान आदि करबाक चाही।
उत्तरभारत में यज्ञ-अनुष्ठान सभहक बेसी महत्व रहल छैक। कथा छैक जे पौष मास में ब्रह्मा जी पुष्य नक्षत्र के दिन अपन पुत्री के विवाह कएलनि, मुदा विवाहे काल मे धातु क्षीण भ गेलाक कारणें ब्रह्मा जी पौष मास आ पुष्य नक्षत्र कें श्राप द देलन्हि।

सिंगापुर मे हिंदू मंदिर के जीर्णोद्धार

सिंगापुर कें सभसं पुरान हिंदू मंदिर कें 11 अप्रैल कए अभिषेक कएल गेल। एहि अवसर पर आयोजित भव्य समारोह मे राष्ट्रपति एसआर नाथन समेत २०,००० अतिथिलोकनि उपस्थित छलाह। वर्ष १८२७ मे बनल एहि मंदिर कें ४० लाख सिंगापुरी डॉलर सं जीर्णोद्धार कएल गेल छैक।

अभिषेक समारोह मध्य व्यावसायिक जिला मे भेल जतए पुजारीलोकनि श्री मरिअम्मन मंदिर के शिखर कें जलाभिषेक कएलनि। सिंगापुर के हिंदू दान बोर्ड के अनुसार,एहि मंदिर केर आंतरिक सज्जा लेल भारत के २० सं बेसी कलाकार लोकनि काज कएने रहथि।

एहि अभिषेक समारोहक बाद ४८ दिनों तक चलएबला सांस्कृतिक कार्यक्रमक प्रारंभ भेल। ज्ञातव्य जे सरकार द्वारा नियुक्त एहि बोर्ड के तहत सिंगापुर में २०टा हिंदू मंदिर अछि।

उम्र कम बतएला सं पॉलिसी भ सकैत अछि खारिज

राष्ट्रीय उपभोक्ता आयोग निर्णय देने अछि जे जं बीमा करबैत काल पॉलिसी धारक अपन उम्र कम बतबैत अछि, तं इंश्योरेंस कंपनी ओकर दावा के खारिज क सकैत अछि। भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) कें एक मामिला में क्लीन चीट दैत आयोग कहलक कि एहि तरहक कोनहु दावा सही तथ्य कें छिपएबाक आधार पर खारिज कएल जा सकैत अछि। आयोग ई दावा एहि आधार पर खारिज क देलक कि पालिसीधारक बीमा करबैत काल अपन उम्र कम बतओने छल। एहि मामिला में कंपनी पओलक जे पॉलिसी धारक सबूत के रूप मे लाइसेंस कें एक प्रति जमा करओने छल जाहि मे अपन जन्म तारीख गलत बतओने छल। एहि पॉलिसी धारक कें स्वर्गवास पॉलिसी लेबाक तीने मासक उपरान्त भ गेल छल। आयोग कहलक जे कोनहु व्यक्तिक उम्र लाइसेंस के बजाए,ओकर स्कूल प्रमाणपत्र में अंकित तारीख सं निर्धारित कएल जएबाक चाही।

Tuesday, April 13, 2010

दूरदर्शन पर महाराजा रणजीत सिंह

दूरदर्शन पर आई सं महाराजा रणजीत सिंह नामक धारावाहिक शुरू भ रहल अछि। कार्यक्रमक प्रसारण सिर्फ मंगल कए राति दस बजे हएत। महाराजा रणजीत सिंह (१७८०-१८३९) पंजाब के महान राजा छलाह। हुनका शेर-ए पंजाब कहल जाइत छन्हि। महाराजा रणजीत सिंह पंजाब कें एक सशक्त राज्यक रूप में एकजुट रखलनि आ हुनकर जीबैत धरि अंग्रेज पंजाब पर अधिकार करबाक साहस नहि क सकल छल । 12अप्रैल 1801 कए रणजीत जी महाराजा केर उपाधि ग्रहण कएने छलाह। पहिल आधुनिक भारतीय सेना - "सिख खालसा सेना" गठित करबाक श्रेय हुनके छन्हि। हुनकर शासन काल मे पंजाब मे ककरो मृत्युदंड नहि देल गेल छल। हिंदू आर सिख सं लेल जा रहल कर जजिया पर उएह रोक लगएने छलाह। अमृतसर केर हरमिंदर साहिब गुरूद्वारा में हुनके संगमरमर लगएबाक आ सोना मढएलाक पछाति ओकरा स्वर्ण मंदिर कहल जाए लगलैक। बेशकीमती हीरा कोहिनूर महाराजा रणजीत सिंह के खजाना के रौनक छल। महाराजा रणजीत सन 1839 में स्वर्गवासी भेलाह। हुनकर समाधि लाहौर में बनाओल गेल छल जे आइयो ओहि ठाम अछि।
एहि धारावाहिक मे मुख्य भूमिका राजबब्बर के छन्हि। हुनकर कहब छन्हि जे ओ एहि विषय पर फिल्म सेहो बनओताह। एक रिपोर्ट दैनिक हिंदुस्तान सं-


बागमती एक्सप्रेस मे स्लीपर कोच बढल

दरभंगा सं बेंगलुरु के बीच चलि रहल बागमती एक्सप्रेस मे स्लीपर कोच मे रिजर्वेशन आब कनेक सुविधाजनक भ जाएत। एक अतिरिक्त स्लीपर कोच जोड़बाक शुरूआत 20 अप्रैल सं हएत।









(हिंदुस्तान,पटना,13.4.2010)

ट्वेंटी-२० विश्व कप हर दोसर साल

आब २०-२० विश्व कप हर दू साल पर आयोजित हएत। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद् के मुख्य कार्यकारी लोर्गट दिल्ली में काल्हि कहलनि जे तेसर विश्व कप ३० अप्रैल सं वेस्ट इंडीज में शुरू हएत मुदा २०१० के बाद सं २०-२० विश्व कप कें आयोजन हर दू बरख पर हएत। लोर्गट स्वीकार कएलनि कि २०-२० तेजी सं लोकप्रिय भेल जा रहल अछि आर ई उम्मीद सं बहुत आगू निकलि गेल अछि। लोगार्ट स्पष्ठ कएलनि कि इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) कें, आईसीसी के भविष्य कदौरा कार्यक्रम (एफटीपी) में जगह नहि देल जएतैक। हुनकर कहब छलन्हि जे ई एक घरेलू टूर्नामेंट छैक एफटीपी केवल अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के लेल बनाओल गेल छैक । तें, आईपीएल कें एहि मे शामिल नहिं कएल जा सकैछ। लोर्गट एहि बात सं इन्कार कएलनि कि आईपीएल के कारणें विश्व कपक चमक मिझरा रहल छैक। हुनकर कहब छलन्हि जे इंग्लैंड में भेल पछिला २०-२० विश्व कप बेस सफल रहाल छल। हालैंड जखन इंग्लैंड कें उद्घाटन मैच में हरओलक तं रोमांच चरम पर छल। लोगार्ट कें मान्यता छन्हि जे "उलटे आईपीएल के कारणें क्रिकेटर पूरी तरह २०-२० के मूड में आबि जाइत छथि आ फेर आईपीएल कें फायदा २०-२० विश्व कप में देखबा में अबैत छैक। ओहुना,विश्व कप आईपीएल सं फराक छैक किएक तं एहि मे मुकाबला देशक बीच होइत छैक,टीमक बीच नहि।

लोर्गट कहलनि जे २०-२० कें फार्मेट लोकप्रियता के मामिला में उम्मीद सं बेस आगू निकलि गेलाक बादो,एहि सं टेस्ट आर वनडे कें कोनो खतरा नहि छैक। ओ इहो स्वीकार कएलनि जे वनडे में मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के पहिल डबल सेंचुरी सं ई प्रारूप लोकप्रियता के शिखर पर पहुंच गेल अछि।

Monday, April 12, 2010

हेमन ट्राफी के फाइनल मे कटिहार के मुकाबला मुजफ्फरपुर सं

सीवान के हराकए कटिहारक टीम हेमन क्रिकेट ट्राफी के फाइनल मे प्रवेश कएलक अछि। फाइनल आइ पटना के संजय गांधी स्टेडियम मे हएत।



















(हिंदुस्तान,पटना,12.4.2010)

मुंबई समर स्पेशल

आइ सं कामाख्या आ आसनसोल सं मुंबई के लेल सप्ताह में पांच दिनक समर स्पेशल ट्रेन शुरू भ रहल अछि। पटना दुनू ट्रेनक स्टॉपेज राखल गेल अछि।


Friday, April 09, 2010

बिजली नहि अछि तं 1 डायल करू

दिल्ली में कोनो वजह सं घरक बिजली कटि गेल हुअए,तं बीएसईएस के आईवीआरएस (इंटरेक्शन वॉयस रेसपाउंस सिस्टम) नंबर डायल कए १ दबाउ आर अपन १० अंक वला सीआरएन (कंज्यूमन रेफरेंस नंबर) नंबर डायल करू। अहां शिकायत स्वतः दर्ज भ जाएत। बिजली कंपनी बीआरपीएल केर आईवीआरएस नंबर ३९९९९७०७ आर बीवाईपीएल केर आईवीआरएस नंबर ३९९९९८०८ छैक।

टाटा आ नोकिया कें म्यूजिक फीचर

आब ककरो फोन करितो काल अहां अपन मनचाहा गीत सुनि सकब। एहि लेल टाटा डोकोमो माई सॉन्ग फीचर शुरू कएने अछि। एकर अंतर्गत, एखन धरि इएह होइत छल जे जकरा फोन कएल जाइत छल,ओकरे फोन में सेट रिंग टोन सुनाई दैत छलैक(जं सेट हुअए तं)। भारत में एहि तरहक सेवा पहिल बेर पेश कएल गेल अछि। ई सुविधा कंपनी के प्रीपेड आर पोस्टपेड दुनू तरहक उपभोक्ता कें भेटतनि। एहि लेल ग्राहक कें ५४३२१७ डायल कए मनपसंद गीत चुनए पड़तनि। ग्राहकों को अलग-अलग लोक सभकें कॉल करए लेल अधिकतम तीन गाना सेट क सककब। खर्चा पड़त १५ रुपए मासिक शुल्क आ २ पैसे प्रति सेकेंड के दर सं शुल्क । प्रत्येक गाना कें डाउनलोड करबाक खर्च १० रुपया पड़त। प्रीपेड आर पोस्टपेड दर एक समान रहत।
ओम्हर, नोकिया सेहो म्यूजिक डाउनलोडिंग सुविधा कनेक अलग-अलग रूप मे शुरु कएलक अछि। नोकिया कें ई सेवा काल्हि सं चीन में शुरू भेल अछि आ भारत में शीघ्र शुरू कएल जाएत। नोकिया इहो कहलक अछि जे ऊ दुनिया भरि के पैघ ब्रांडक तहत संगीत डाउनलोड केर सुविधा उपलब्ध कराओत।

फोर लेन सड़क मंजूर

(हिंदुस्तान,पटना,9.4.2010)

Thursday, April 08, 2010

"कहू त"(12) केर परिणाम

रूचिगर सूचना आधारित साप्ताहिक स्तंभ "कहू त" श्रृंखला केर बारहम प्रश्न छलः
"मिथिलाक एकमात्र नीलकंठ मंदिर जएबा लेल कोन टीसन उतरब"?
विकल्प छलः

1.सहरसा

2.सिमरिया

3.सुपौल

4.झंझारपुर

प्राप्त उत्तर सिमरिया के पक्ष मे छल जे गलत उत्तर अछि। सही उत्तर अछि-सहरसा

पुनः,नव प्रश्न प्रस्तुत अछि। प्रतिभागी बनू,वोट करू।

ह्यूंदेई कें आई-२० मॉडल

देश कें दोसर सभसं पैघ ऑटो कंपनी ह्यूंदेई मोटर्स इंडिया लिमिटेड काल्हि अपन प्रीमियम हैचबैक गाडी आई २० केर नव मॉडल बजार मे उतारलक। कंपनी आई २० के नबका मॉडल बाजार में उतारि कए उत्साहित अछि। कंपनी कें विश्वास छैक जे एहिसं ओकर ग्राहकलोकनिक अलग-अलग जरूरति पूरा भ सकत आ कंपनी कें बिक्री सेहो बढतैक। कंपनी अपन दू गोट आन गाड़ी- एरा आर स्पोर्टिज के नव मॉडल सेहो अनने अछि। एकर कीमत क्रमशः ४५१८१६ लाख रुपय्या आर ५३१८१७ लाख रुपय्या राखल गेल छैक।

पटना मे स्वरनाद मे पंडित जसराज

मेवाती घराना कें विश्वप्रसिद्ध शास्त्रीय गायक पंडित जसराज जी आई पटना मे आर्ट ऑफ लिविंग केर स्वरनाद मे अपन प्रस्तुति देताह। पद्मभूषण जसराज जी 80 बरखक छथि मुदा हुनक स्वर मे ओज समय केर संग आओर बढैत गेल छन्हि। हुनका सुनब एक असाधारण अनुभव छैक। अपूर्व भक्तिभाव सं गाओल हुनकर एक गीत सुनए लेल क्लिक करू।
(हिंदुस्तान,पटना,8.4.2010)

दरभंगा,पटना,भागलपुर,मुजफ्फरपुर आ गया मे एसएसपी

आब राजधानी पटना के अलावे चारि टा आओर जिला मे एसएसपी के पद हएत। एसपी के पद अलग सं रहबे करतैक। परसू केंद्र सरकारक कार्मिक,प्रशिक्षण आ पेंशन विभाग एहि संबंध मे अधिसूचना जारी क देलक। पटना के अलावे मुजफ्फरपुर, भागलपुर, गया आर दरभंगा जिला मुख्यालय मे एसएसपी कें पद सृजित कएल गेल छैक । एहि अधिसूचना के बाद, बिहार में आईपीएस के पद बढ़िकए 231 भ गेल अछि। राज्य मे डीजी के संख्या सेहो बढाकए दू सं तीन क देल गेल अछि। आब डायरेक्टर जनरल आफ पुलिस (ट्रेनिंग) केर पद सेहो कैडर पोस्ट भ गेल अछि।

बिहार मे जनगणना 1 जून सं

बिहार में जनगणना एक जून सं शुरू हएत आ दू चरम मे संपन्न हएत । पहिल चरण के जनगणना 1 जून सं 15 जुलाई तक चलत। दोसर चरण केर जनगणना अगिला बरख 9 फरवरी सं शुरू भ कए 28 फरवरी तक चलत। जनगणना कें जिम्मेदारी जिलाधिकारी पर रहतनि। एहि कार्य मे 1 लाख 95 हजार कर्मचारी कें लगाओल जएतनि जाहि मे सं बेसी गोटे शिक्षक रहताह।



















(हिंदुस्तान,पटना,8.4.2010)

संस्कृत ग्राम




















(हिंदुस्तान,पटना,7.4.2010)

Tuesday, April 06, 2010

बिहार मे वकील पेंशन योजना लागू

वकील सभहक लेल पेंशन लागू करए वला बिहार पहिल राज्य बनि गेल अछि। एक खबरि आजुक हिंदुस्तान,पटना संस्करण सं-

फोटो मतदाता सूची जारी

1 जनवरी,2010 तक केर स्थिति अनुसार फोटो मतदाता सूची जारी क देल गेल अछि। 15 जून कए एकर अंतिम रूप सं प्रकाशन हएत। ताधरि विशेष पुनरीक्षण कार्यक्रम शुरु कएल गेल अछिः



















(हिंदुस्तान,पटना,6.4.2010)

Monday, April 05, 2010

श्वेताम्बर दास मलेशिया आ जर्मनी निमंत्रित

पटना विश्वविद्यालय के एमएससी भौतिकी के छात्र श्वेताम्बर दास कें,कैओस थ्योरी पर रिसर्च कें कारण विदेश बजाओल जा रहल छन्हि। एक रिपोर्ट आजुक हिंदुस्तान,पटना संस्करण सं-

स्टार वन पर "रंग बदलती ओढनी"

स्टार वन चैनल आइ सं रंग बदलती ओढनी नामक सीरियल शुरू क रहल अछि। ई धारावाहिक गुजरात के भुज मे धुलवाड़ी गामक कथा कहैत छैक जाहि मे खनक केर बालसंगी सूरज संग विवाहक कथा छैक। सूरज एक एहन फैक्ट्री मे काज करैत छैक जे गाम मे सेहो लगए वला छैक। ओम्हर,फैक्ट्री मालिक खंडेलवाल केर बेटा शांतनु अनिच्छा सं फैक्ट्री कें उद्घाटन करए अबैत छैक आ ओकर असली मोन अपन मित्र नताशा सं विवाहक तैयारी करबाक छैक। मुदा घटनाक्रम दोसर रूपें चलैत छैक आ कनक,सूरज,शांतनु,नताशा-सभहक जीवन बदलि जाइत छैक।

एहि धारावाहिक केर कैच लाइन छैकःसपने टूटे,पूरे होने के बाद आ इहो स्वयं कथा देया बहुत किछु कहैत छैक। सूरज कें भूमिका मे छथि हरप्रीत सिंह आ शांतनु के रोल मे करण टाकर। खनक के रोल यशश्री मासुरकर कएने छथि जे हिनकर हिंदी मे पहिल धारावाहिक छन्हि।

धारावाहिक कें प्रसारण प्रति सप्ताह सोम सं शुक्र तक राति 10 बजे सं हएत।

ब्लॉग,महिला और बिहार

बिहार मे बिजली एकटा पैघ समस्या अछि। ब्लॉगिंग के लेल समय बड्ड देबए पड़ैत छैक आ ताहि लेल निरन्तर बिजली आवश्यक छैक। तइयो बिहारक महिला सभ वैचारिक मंच पर सक्रिय छथि। आजुक हिंदुस्तान,पटना संस्करण मे, बिहार मे स्त्रीलोकनि द्वारा संचालित ब्लॉगक परिचय कराओल गेल छैक। एहि सूची सं इतर,आओरो कतेको महिला सक्रिय हेतीह,से अनुमान करैत छी। एतेक संकेत तं भेटते छैक जे समय बदलि रहल छैक । एक नज़रिः

स्टार वन पर "गीत"

स्टार वन पर आइ सं गीत नामक नव धारावाहिक शुरू भ रहल अछि। प्रसारण प्रति सप्ताह सोम सं शुक्र तक राति में साढे नौ बजे हएत। धारावाहिक केर कैच लाइन छैक-एनआरआई से शादी खुशियों की गारंटी नहीं जे स्वयं विषय केर स्पष्ट करैत अछि। एहि सीरियल में पारंपरिक पंजाबी परिवार केर कहानी छैक। एहि धारावाहिक कें पंजाबी परिवारक रहन-सहन आ खासकए विवाहादि सं जुड़ल रीति-रिवाज कें बुझबाक दृष्टि सं बहुत महत्वपूर्ण मानल जा रहल छैक। दिल मिल गया धारावाहिक मे बहुचर्चित डॉ. मुस्कान केर रोल सं चर्चा मे आएल दृष्टि धामी एहि धारावाहिक में लीड रोल मे छथि। कथा एक प्रवासी पंजाबी परिवार केर वास्तविक घटनाक्रम सं प्रेरित बताएल जा रहल छैक। धारावाहिक केर प्रारंभ गीत केर विवाह सं होइत छैक जकर प्रतिएं परिवार बेहद उत्साहित छैक किएक तं विवाह भ रहल छैक एक सफल एनआरआई सं जे उज्ज्वल भविष्यक ख्वाब देखबैत छैक। मुदा वरपक्षक आग्रहक कारणें,विवाह पारिवारिक आयोजन मात्र जकां रखबाक राखल जाइत छैक। किएक,ताहि लेल धारावाहिक देखए पड़त।

Thursday, April 01, 2010

मैथिली साहित्य मे हास्य-व्यंग्य

चंदा झा
1.ब्राह्मणक भोजनप्रियता पर-
चूड़ादही बाभन सोंटथि गटगट रे।
नित नओत वैसि जाथि निरहट रे।।
धनहा आंसूक चूड़ा खाथि मुंहफट रे।
रातिभरि निन्द कहां पेट भट भट रे।।
2. क्रुद्ध परशुराम द्वारा शिवधनुष भंजक कें मृत्युदंड देबाक बात कहला पर लक्ष्मणक उक्ति-
लक्ष्मण कहलनि कह अजगूत।
क्षत्रिय क्षत कत अपने बूत।।
शिवधनु टूटल देत के जोड़ि।
की होअ आब कपारे फोड़ि।।

लाल दास
1. धनुषभँग करबा मे रावणकें असफल भेलाक बादक चित्रणः
खसल मुकुट टूटल वरहार।
धोती खुजल न रहल संभार।।
पड़ल सभा मे हाहाकार।
भेल ठहक्का हँसी अभार।।
2. विवाहोपरांत सारि-सरिहोजक वचन-
अहँक वंश केर अद्भुत कर्म।
सुनल पुरुषकें प्रसवक धर्म।।
पुनि सुनलहुं पायस कें खाय।
लै अछि नारि पुत्र जनमाय।।
एहि पर रामक प्रत्युत्तर-
हम सुनलहुं तिरहुतिक रीत।
महि मे उपजय सन्तति सीत।।
मथल जाय जँ मृतक शरीर।
तेहि सँ उपजय बालक वीर।।

हरिमोहन झा
ब्राह्मणभोजन केर मान्यता पर-
कलियुगमे यदि सकल पापसौं क्यौ चाहथि उद्धार।
ब्राह्मण भोजन नित्य कराबथि चूड़ा-दही-अचार।।

मैथिल संस्कृति बिसरिकए पाश्चात्य सभ्यताक टी-पार्टी संस्कृति अपनएला पर-
एकटा सिंहारा एक फक्का दालमोट।
एक रसगुल्ला और बुनिया एक चौठीमात्र।।
तोलाभरि सेवई और समतोला दुह फांक।
एक चुटकी किशमिश तथा सोहल एक केरा टा।।
मायानन्द मिश्र

गे नोचनी तोहर गुण कतेक हम गाउ
जखन तोरा हम कुरियाबै छी
स्वर्गक सुख हम पाबै छी।

कीर्तिनारायण मिश्र
सभ किछु नीक लगइए।
यथास्थिति मे सभ सुख भेटइए।।
रोटी भ गेल राजनीति केर ग्रास।
पेट अध्यादेश सं भरइए।।

रवीन्द्रनाथ ठाकुर
शांति–शांति हरिओम शान्ति सँ
नवनिर्माण शुरु रे भैया।
गुरु छल से चेला बनला
चेला बनि गेल गुरु रे भैया ।।
हंस चढल श्री लक्ष्मी मैया
उल्लू चढल सरस्वती मैया।।

भक्ति आंदोलनक प्रारंभ विद्यापति सं

बिहार हिन्दी साहित्य सम्मेलन के तत्वावधान में काल्हि आचार्य केसरी कुमार केर जयंती पर आधुनिक हिन्दी कविता के विकास में बिहारक योगदान विषय पर पटना मे एक विचार-गोष्ठी आयोजित भेल। एहि में कहल गेल जे देश में भक्ति आंदोलनक प्रारंभ विद्यापति सं भेल छल। कार्यक्रम में प्रपद्यवादक पुरोधा केसरी कुमार कें श्रद्धापूर्वक याद कएल गेलन्हि। बिहार हिन्दी साहित्य सम्मेलन के अध्यक्ष डा. जगदीश पाण्डेय के अध्यक्षता में आयोजित विचार गोष्ठी में मुख्य वक्ता-सह-भूपेंद्र नारायण मंडल विवि के पूर्व कुलपति डा. अमरनाथ सिन्हा आधुनिक हिन्दी कविता के विकास में बिहारक योगदान कें रेखांकित करैत कहलनि जे हिन्दी कविता के बहुविध विकास में बिहार अग्रणी रहल अछि। ओ दिनकर, प्रभात, आरसी प्रसाद सिंह, जानकी वल्लभ शास्त्री, मोहनलाल महतो वियोगी, रूद्र, सत्यनारायण, केसरी कुमार, राजेंद्र सिंह आदि कविलोकनिक योगदान पर विशेष चर्चा कएलनि। अध्यक्षीय संबोधन में डा. जगदीश प्रसाद पाण्डेय कहलनि जे हिन्दी साहित्य सम्मेलन द्वारा शीघ्र आजुक हिन्दी कविलोकनि कें सम्मानित कएल जाएत। हिन्दी साहित्य सम्मेलन के प्रधानमंत्री रामनरेश सिंह केसरी कुमार के योगदानक चर्चा करैत हुनका हिन्दी साहित्यक धरोहर बतओलनि। गोष्ठी में उपाध्यक्ष अनिल सुलभ व डा. जितेंद्र सहाय, कला मंत्री डा. शंकर प्रसाद, पुस्तकालय मंत्री डा. ब्रजभूषण शर्मा, साहित्य मंत्री शिवशंकर पाण्डेय, जेपी मिश्र, जेपी द्विवेदी आदि सेहो विचार व्यक्त कएलनि। मंच संचालन डा. शिवशंकर पाण्डेय कें छल।

युवा चित्रांश सम्मेलन

अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के युवा संभाग 20 जून कए राज्य स्तरीय युवा चित्रांश सम्मेलन केर आयोजन करत। कार्यक्रम के संचालन लेल काजल सिन्हा के नेतृत्व में 25 सदस्यीय समिति गठित कएल गेल अछि। युवा संभाग के प्रदेश अध्यक्ष सुजीत कुमार सिन्हा दीपू संवाददाता सम्मेलन में कहलनि जे कायस्थ समाजक गौरवशाली इतिहास रहल अछि आ राजनीति के लेल युवावर्ग कें जागृत कएल जाएत। सम्मेलन के बाद सभ राजनैतिक दल कें ज्ञापन सौंपकए कायस्थ समाज के लोग कें टिकट देबाक मांग कएल जाएत।





















(हिंदुस्तान,पटना,1.4.2010)

पटना मे संपत्ति खरीद कठिन भेल

  पटना आर एकर आसपास के इलाका में जमीन, फ्लैट आर मकान कीनब आब आओर मोसकिल हएत।आइ सं अप्रील सं  मिनिमम वैल्यू रजिस्टर (एमवीआर) में 20 प्रतिशत सं 300 प्रतिशत वृद्धि भ गेल। शहरी क्षेत्र में ई बढोत्तरी 20 सं 100 प्रतिशत धरि कएल गेल अछि।  ग्रामीण इलाका मे 20 सं 300 फीसदी तक वृद्धि भेल । राजधानी पटना के पांच जोन में बांटल गेल अछि। आइ सं नबका दर पर स्टॉप ड्यूटी लेल जाएत। एतबे नहि,आब शहरी क्षेत्र मे 10 फीसदी आर ग्रामीण क्षेत्र में 8 फीसदी के दर सं स्टॉप ड्यूटी देमय पड़त।

समय-साल केर मार्च-अप्रील अँक उपलब्ध भेल

1. कार्टून बाला साहेबक-मन्त्रेश्वर झा
2. के अछि कृषकक मर्मांतक पीड़ा देखनिहार(संपादकीय)
3. किछु जानल किछु सोचल(विभिन्न खबरि पर रिपोर्ट)
4. शहरी सुख सं वंचित किसान-महाकान्त मंडल
5. कांग्रेसक विरूद्ध विपक्षक अभाव-मधुकान्त झा
6. मिथिलांचल राज्य चाही-
7. अम्बेदकर सत्य आ सपना-जयराम यादव
8. मिथिला आ मैथिली-राजनन्दन लाल दास
9. सराप(लघुकथा)-रानी झा
10. अबंड जकां बौआइत(कविता)-डॉ. वीरेन्द्र मल्लिक
11. ग़ज़ल-विजयनाथ झा
12. सवाल जागल अछि(कविता)-मधुकान्त झा
13. एहेन त भेल अछि(कविता)-अंशुमान सत्यकेतु
14. पराकाष्ठा(कथा)-भक्तीश्वर झा सारथी
15. सरकार दर्शन- राजशेखर
16. फगुआ में माछ?किन्नहु नहि !-शिवकुमार नीरव
17. स्वर्गक चुनावी दंगल-ज्योतीरीश्वर झा
18. श्रेष्ठतम मैथिली साहित्यकार-अरविन्द कुमार सिंह झा
19. मैथिली भाषाक विकासक बाधक तत्त्व-डॉ. वीरेन्द्र झा
20. जीवन प्रेमीक देह यात्रा थिक-लतिका

पत्रिका प्राप्ति सम्पर्कः 9899891808

अप्रैल,2010 केर पाबनि-तिहार

2 अप्रैल: संकष्टी श्रीगणेश चतुर्थी व्रत
5 अप्रैल: शर्करा सप्तमी
6 अप्रैल: कालाष्टमी व्रत
7 अप्रैल: चण्डिका नवमी
11 अप्रैल: प्रदोष व्रत
12 अप्रैल: मासिक शिवरात्रि व्रत
14 अप्रैल: खरमास समाप्त। सतुआइन संक्रान्ति। मेष-संक्रान्ति भोरे 6.57 बजे, पुण्यकाल सूर्योदय सं दुपहर 1.21 बजे तक। हरिद्वार में कल्पवास प्रारंभ। हरिद्वार के महाकुम्भ मे पूर्ण कुम्भयोगक मुख्य स्नान तथा तृतीय (अंतिम) शाही स्नान। चडक पूजा (बंगाल)। सौर नववर्ष प्रारंभ, वैशाखी पर्वोत्सव। स्नान-दान-श्राद्ध केर अमावस्या।
15 अप्रैल: जूडशीतल। मलमास प्रारंभ। बंगाली नववर्ष 1417 प्रारंभ।
18 अप्रैल: वरदविनायक चतुर्थी व्रत।
19 अप्रैल: स्कन्द (कुमार) षष्ठी व्रत। स्वामी कार्तिकेय केर दर्शन-पूजन ।
20 अप्रैल: सूर्य सायन वृष मे भोरे 10.01 बजे। सौर ग्रीष्म ऋतु प्रारंभ।
22 अप्रैल: श्रीदुर्गाष्टमी व्रत। श्रीअन्नपूर्णाष्टमी व्रत। व्यतिपात महापात देर राति 3.14 सं।
23 अप्रैल: बाबू कुँवर सिंह जयंती। व्यतिपात महापात प्रात: 7.44 तक। कुमार योग अपराह्न 1.52 सं रात्रिपर्यन्त।
25 अप्रैल: षाण्मासिक रविव्रत पूर्ण। पुरुषोत्तमी कमला एकादशी व्रत।
26 अप्रैल: सोम-प्रदोष व्रत
27 अप्रैल: पुरुषोत्तमी पूर्णिमा व्रत, श्रीसत्यनारायण पूजा-कथा
28 अप्रैल: स्नान-दान केर पुरुषोत्तमी पूर्णिमा। तीर्थ अथवा पवित्र नदी सभ में स्नान विशेष पुण्यदायक। हरिद्वार महाकुंभ में स्नान